Breaking News

नोएडा : कोरोना के 70% मरीजों में सांस लेने की परेशानी, नहीं है बुखार और सर्दी-जुकाम

two more noida people infected from coronavirus

राजधानी दिल्ली से सटे गौतमबुद्ध नगर में कोरोना का इलाज करा रहे करीब 70 प्रतिशत मरीजों में सिर्फ एक-एक लक्षण मिल रहे हैं। ग्रेटर नोएडा में इलाज करा रहे मरीजों में सांस लेने की आंशिक परेशानी आ रही है, लेकिन उन्हें बुखार और सर्दी जुकाम नहीं है। वहीं, नोएडा में ज्यादातर मरीजों में बुखार के लक्षण मिले। लक्षणों के आधार पर मरीजों का इलाज किया गया।
नोएडा और ग्रेटर नोएडा में अब तक 115 मरीजों की पुष्टि की जा रही है। इसमें से 71 ठीक हो चुके हैं। कुल मरीजों में करीब 80 मरीजों में एक-एक लक्षण मिल रहे हैं। नोएडा सेक्टर-30 स्थित शिशु अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड के डॉक्टर संतराम वर्मा ने बताया कि व्यस्कों में, जो भी पॉजिटिव मरीज इलाज के लिए आया, उनमें बुखार के लक्षण थे। कुछ ने गला खराब होने की शिकायत की। वहीं कई ऐसे मरीज भी थे, जिनमें कोई लक्षण नहीं था। किसी भी मरीज में गंभीर लक्षण नहीं थे। बाद में जरूर कुछ मरीजों में सांस लेने में थोड़ी बहुत दिक्कत आई। जिसे दवाईयां देकर ठीक कर लिया गया।
ग्रेटर नोएडा के शारदा अस्पताल आइसोलेशन वार्ड के नोडल चिकित्सा अधिकारी डॉ. अभिषेक त्रिपाठी ने बताया कि हमारे यहां 60-70 प्रतिशत मरीजों में सिर्फ एक ही लक्षण मिले। पॉजिटिव मरीजों को सांस लेने में थोड़ी परेशानी आ रही थी। बुखार और सर्दी जुकाम के लक्षण काफी कम मरीजों में थे।
प्रोटीनयुक्त भोजन
मरीजों को प्रोटीनयुक्त खाना दिया जा रहा है। इसमें अंडा, दाल, सोयाबीन आदि शामिल है। इसके अलावा डायटिशियन और डॉक्टर की सलाह पर उनकी पसंदीदा फल या पौष्टिक आहार भी दिए जा रहे हैं।

ऐसे हो रहा उपचार
मरीजों को लक्षण के आधार पर दवाएं दी जा रही हैं जिससे मरीज की प्रतिरोधक क्षमता बनी रहे। उन्हें मल्टी विटामिन और हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन आदि दवाएं दी जा रही है। संदिग्ध मरीजों को ओआरएस का घोल भी दिया जा रहा है।

उम्रदराज में सभी लक्षण
जिन मरीजों में कोरेाना संक्रमण के प्रभाव के सभी लक्षण मिले, उनकी उम्र 60 वर्ष से अधिक थी। वहीं कई ऐसे लोग भी शामिल हैं जो पहले से गंभीर बीमारियों से पीड़ित हैं। इनमें भी अभी तक किसी को वेंटिलेटर देने की जरूरत नहीं पड़ी है।

No comments