Breaking News

सहरसा उग्रतारा सांस्कृतिक महोत्सव के उद्घाटन के मौके पर स्वरांजलि के कलाकार हम तो हैं परदेश में, देश में निकला होगा चांद.


हम तो हैं परदेश में, देश में निकला होगा चांद..
सहरसा: उग्रतारा सांस्कृतिक महोत्सव के उद्घाटन के मौके पर स्वरांजलि के कलाकारों ने एक-से-एक गीत, भजन, भगवती वंदना आदि के माध्यम से समां बांध दिया। श्वेता झा ने हम तो हैं परदेश में देश में निकला होगा चांद, तोहरे अंगनवां ब्रह्माबाबा झूलवा बनैलिए, झूलवे पर होए न सहाय गाकर लोगों का खूब मनोरंजन किया। गाम के अधिकारी गीत पर खूब ताली बटोरी। भगवती नृत्य, जय-जय से महिषासुर मर्दिनी- रम्यक पदिनी शैल सूते पर कलाकार ने दर्शकों में रोमांच भर दिया। कार्यक्रम की शुरूआत स्वागत गीत स्वागतम, शुभ स्वागतम, आनंद मंगल मंगलम से हुई। इस गीत पर स्वरांजलि की बच्चियों ने बेहतरीन नृत्य प्रस्तुत किया। जबकि आकाशवाणी कलाकार मैया तारा से पूजा ले दै छी हकार गाकर लोगों को झूमने के लिए मजबूर कर दिया। उद्घाटन सत्र में इन लोगों ने गीत संगीत का समां बांध दिया, जिसकी लोगों ने खूब प्रशंसा की। प्रशासनिक अधिकारियों ने कहा कि यहां की बच्चियों में कूट- कूटकर प्रतिभा भरा है। अगर इनलोगों को उचित प्रशिक्षण मिले, तो ये लोग भी आसमान की बुलंदी को छू सकते हैं।

No comments