Breaking News

मानहानि केस / जमानत मिलने के बाद तारामंडल से पैदल मौर्या लोक पहुंचे राहुल, रेस्टोरेंट में खाया डोसा और सांभर-बड़ा


After getting bail Rahul Gandhi reached Mauryalok, eat dosa and Sambar-big in restaurant

  • राहुल पर चलेगा मुकदमा मिली जमानत, बोले-संविधान बचाने की लड़ाई लड़ रहा हूं
  • ‘सभी चोर के उपनाम मोदी क्यों’ की टिप्पणी मामले में पटना सिविल कोर्ट में पेश हुए राहुल
  • अज्ञात बुखार से पीड़ित बच्चों के परिजनों से मिलने जल्द ही मुजफ्फरपुर जाएंगे राहुल गांधी

पटना. दिन के करीब 2:20 बजे रहे थे। सिविल काेर्ट में पेशी के बाद राहुल गांधी का काफिला पूरी रफ्तार के साथ दनादन एयरपाेर्ट के लिए रवाना हुआ। 2:27 बजे काफिला तारामंडल चाैराहे के पास पहुंचा और राहुल अचानक गाड़ी से उतरकर पैदल ही मौर्य लोक की ओर चल पड़े। साथ चल रहे नेताओं को जब तक पता चलता, तब तक वे बसंत विहार पहुंच चुके थे। वहां उन्होंने रवा ऑनियन मसाला डोसा और काॅफी ऑर्डर किया। ऑर्डर आने तक उन्होंने स्टार्टर के रूप में सांभर बड़ा का स्वाद लिया।
हालांकि उनके खाने की व्यवस्था एयरपोर्ट पर थी। लेकिन अचानक अपने प्रोग्राम में बदलाव करते हुए, राहुल ने ढाबा में खाने की इच्छा जाहिर की। नेताओं ने उनके सामने बड़े होटलों में लंच का प्रस्ताव रखा, लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया। जब तक बसंत विहार के नाम पर सहमति बनती तब तक गाड़ियों का काफिला तारामंडल चौराहा पहुंच चुका था।
राहुल ने साथ बैठे शक्ति सिंह गोहिल से पूछा की बसंत विहार किधर है? गोहिल ने प्रेमचंद्र मिश्रा की ओर देखा, तो उन्होंने कहा, सर यहीं पास में। इतना सुनते ही राहुल ने वहीं गाड़ी रुकवायी और पैदल ही मौर्या लोक तक आए। बिल 2100 रुपए का हुआ। राहुल ने खुद पेमेंट किया। बसंत विहार में राहुल गांधी करीब 40 मिनट रुके। वहां मौजूद लोगों से हाथ मिलाया और सेल्फी खिंचवाई। निकलते वक्त राहुल ने हाथ हिलाकर सबका अभिवादन किया। 
जल्द ही मुजफ्फरपुर जाएंगे राहुल गांधी
राहुल ने मुजफ्फरपुर में अज्ञात बुखार से बच्चों की मौत पर पार्टी की ओर से किए जा रहे प्रयास पर असंतोष जाहिर किया। कहा-हमें लोगों की मदद को आगे आना चाहिए। अगर हम लोगों की समस्याओं से दूर भागेंगे तो पार्टी कैसे मजबूत होगी। बसंत विहार में नेताओं से बातचीत के दौरान राहुल ने यह बात कही। उन्होंने गोहिल से कहा कि मेरा मुजफ्फरपुर जाने का प्रोग्राम बनाइए। हम जल्द ही मुजफ्फरपुर जाएंगे और पीड़ित परिवारों से मिलेंगे। आपलोगों को भी अस्पताल जाने की जरूरत नहीं थी, जाना था तो पीड़ितों के घर जाते।



रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps अपने मोबाइल पे>>

No comments