Breaking News

मनमोहन सिंह सरकार में हुई थी छह सर्जिकल स्ट्राइक, कांग्रेस ने किया दावा

मनमोहन सिंह सरकार में हुई थी छह सर्जिकल स्ट्राइक, कांग्रेस ने किया दावा
पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की फाइल फोटो.
नई दिल्ली: 
लोकसभा चुनाव की रैलियों में  बीजेपी की ओर से उड़ी और पुलवामा अटैक के बाद सीमा पार हुई सर्जिकल स्ट्राइक को भुनाया जाने लगा तो अब कांग्रेस भी हिसाब-किताब लेकर सामने आ गई है. कांग्रेस ने दावा किया है कि मनमोहन सरकार में कुल छह बार सर्जिकल स्ट्राइक हुई. ये कार्रवाई 2008 से 2014 के बीच हुई.कांग्रेस ने मनमोहन सरकार में हुई सर्जिकल स्ट्राइक की जानकारी ट्विटर पर दी. जिसके मुताबिक पहली सर्जिकल स्ट्राइक 19 जून 2008 को असम राइफल्स, गोरखा रेजीमेंट ने भत्तल सेक्टर, पुंछ में की. दूसरी स्ट्राइक 30 अगस्त और एक सितंबर 2011 को शारदा सेक्टर में राजपूत और कुमायूं रेजीमेंट ने की. तीसरी स्ट्राइक छह जून 2013 को सावन पात्रा चेकपोस्ट पर हुई. चौथी स्ट्राइक 27-28 जुलाई 2013 को नाजपीर सेक्टर में हुई. पांचवा सेक्टर छह अगस्त 2013 को नीलाम वैली में हुई. वहीं छठीं सर्जिकल स्ट्राइक 14 जनवरी 2014 को हुई. 

टिप्पणियां
राहुल ने साधा पीएम मोदी पर निशाना
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने  पीएम नरेंद्र मोदी पर सेना के राजनीतिकरण का आरोप लगाया. कहा कि सेना हिंदुस्तान की है, न कि किसी व्यक्ति विशेष की. उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने देश की अर्थव्यवस्था को नष्ट किया. उन्होंने युवाओं को दो करोड़ रोजगार नहीं दिया. वह चुनाव हार रहे हैं. इसका असर उनके चेहरे पर दिख रहा है. राहुल गांधी ने दावा देते हुए कहा- मैं कांग्रेस सरकार बनने पर  22 लाख युवाओं को एक साल के भीतर रोजगार की गारंटी देता हूं. राहुल गांधी ने न्याय योजना के बारे में बताता हुए कहा कि जैसे ही लोगों के पास पैसा आएगा, वह खरीददारी करेंगे. इससे अर्थव्यवस्था सुधरेगी. राहुल गांधी ने कहा कि नरेंद्र मोदी जी, आप बताइए युवाओं, महिलाओं के लिए आप क्या करने जा रहे हैं, आपने सब्सिडी ले ली. गब्बर सिंह टैक्स भी लगा दिया आपने. राहुल गांधी ने एक बार फिर नरेंद्र मोदी सरकार पर राफेल डील में 30 हजार करोड़ के घोटाले का आरोप लगाया. कहा कि चौकीदार चोर है पार्टी का नारा है. 

Far before Modi ever came to power, brave men sacrificed their lives to protect & avenge our great nation. His ridiculous comments are not only an insult to them but has hurt the sentiments of every Indian.
3,043 people are talking about this


 

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps अपने मोबाइल पे>>

No comments