Breaking News

मुज़फ्फरनगर ट्रेन हादसा: राहत एवं बचाव कार्य युद्धस्तर पर जारी, ये हैं जरूरी हेल्प लाइन नंबर

उत्कल एक्सप्रेस शनिवार शाम मुजफ्फरनगर के खतौली में हादसे का शिकार हो गई. हादसा आज शाम पौने छह बजे हुआ.

मुज़फ्फरनगर ट्रेन हादसा: राहत एवं बचाव कार्य युद्धस्तर पर जारी, ये हैं जरूरी हेल्प लाइन नंबर
नई दिल्ली: उत्कल एक्सप्रेस शनिवार शाम मुजफ्फरनगर के खतौली में हादसे का शिकार हो गई. हादसा आज शाम पौने छह बजे हुआ. ट्रेन की कई बोगियों के पटरी से उतरने के कारण कम से कम 10 की मौत जबकि दर्जनों लोगों के गंभीर रूप घायल हो गए. यह हादसा दिल्ली से लगभग 115 किमी की दूरी पर हुआ. रेलवे राज्यमंत्री हादसे के बाद तत्काल घटनास्थल के लिए रवाना हो गए. इससे पहले पिछले साल नवंबर में इंदौर-पटना एक्सप्रेस बेपटरी हो गई थी जिसमें 100 से अधिक लोगों की मौत जबकि 200 लोग घायल हुए थे. रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने हादसे की जांच के आदेश दिए हैं. हादसे के बाद हेल्प लाइन नंबर जारी किए गए हैं. दुर्घटना के बाद कई रेलगाड़ियों के रूट बदल दिए गए हैं. एनडीआरएफ की टीम दिल्ली से रवाना कर दी गई है. 
हादसे के बाद राहत एवं बचाव कार्य युद्धस्तर पर जारी है. प्रदेश के पुलिस उप महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) आनंद कुमार ने बताया कि मुजफ्फरनगर में रेल हादसे के बाद राहत एवं बचाव कार्य शीर्ष प्राथमिकता पर है. मेरठ जोन के सभी निजी तथा सरकारी अस्पतालों को अलर्ट कर दिया गया है.
इस बीच, राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना पर दुख जाहिर करते हुए अधिकारियों को राहत और बचाव कार्य में तेजी लाने के हर सम्भव कदम उठाने के निर्देश दिये हैं.
उधर, मुजफ्फरनगर में उत्कल एक्सप्रेस के पटरी से उतरने से पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया. उन्होंने कहा कि रेल मंत्रालय, उप्र सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है और ट्रेन के पटरी से उतरने के बाद सारी सहायता प्रदान कर रही है.
रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि मेडिकल वैन को घटनास्थल के लिए रवाना कर दिया गया है. राहत एवं बचाव ऑपरेशन जारी है.