Breaking News

'हम कोलकाता से आइल बानी' कहकर ममता ने की पटना में भाषण की शुरुआत, बीजेपी को जमकर कोसा

राष्ट्रीय जनता दल की रविवार की रैली में भले ही कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई बड़े नेता नहीं आए, लेकिन पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई और भाषण से समां बांधे रखा.

'हम कोलकाता से आइल बानी' कहकर ममता ने की पटना में भाषण की शुरुआत, बीजेपी को जमकर कोसा
पटना के गांधी मैदान में रविवार को राजद की रैली के दौरान बोलतीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी.

खास बातें

  1. ममता बनर्जी ने कहा, बीजेपी को हरियाणा में सेना क्यों बुलानी पड़ी
  2. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने नीतीश कुमार को भी जमकर कोसा
  3. तीनों बार हम नीतीश के शपथग्रहण में जनता के लिए पहुंचे थे
पटना: राष्ट्रीय जनता दल की रविवार की रैली में भले ही कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई बड़े नेता नहीं आए, लेकिन पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई और भाषण से समां बांधे रखा. 

'हरियाणा में हिंसा हुई तो सेना को क्यों बुलाना पड़ा'
रैली में सबसे आखिर में स्टेज पर आईं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भाषण की शुरुआत भोजपुरी में यह कहकर किया कि 'हम कोलकाता से आइल बानी'. उसके बाद उन्होंने सीधे बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि हमकों कभी-कभी गाली मिलती है हम मुस्लिम हैं, हिन्दू नहीं हैं. अरे भाई हम हिन्दू में जन्म लिए हैं, तुमसे सर्टिफिकेट नहीं लेना. फिर उन्होंने हिन्दू का मतलब त्याग, ईमान का मतलब मुसलमान, प्यार का नाम ईसाई और सिख का मतलब बलिदान बताया. इसके बाद ममता बनर्जी ने बीजेपी पर निशाना साधा. उन्होंने पश्चिम बंगाल में हर साम्प्रदायिक तनाव के बाद बीजेपी की आलोचना पर जवाब देते हुए कहा कि क्यों बीजेपी शासित हरियाणा में हिंसा हुई तो सेना को बुलाना पड़ा.  
नीतीश के शपथग्रहण में बिहार की जनता के लिए आईं थीं
ममता ने नीतीश कुमार पर भी हमला बोला. उन्होंने कहा कि वह तीन बार उनके शपथ ग्रहण में आईं, लेकिन वह बिहार की जनता के लिए पहुंचीं थीं. उन्होंने धोखा दिया और ईश्वर उन्हें इस महागठबंधन को धोखा देने के लिए माफ़ नहीं करेगा. हालांकि नीतीश की तुलना लालू और अखिलेश से करते हुए कहा कि जहां ये दोनों नेता जो बोलते हैं उसपर टिके रहते हैं, वहीं नीतीश पर भरोसा नहीं किया जा सकता. लेकिन ममता ने भरोसा दिया कि उनकी पार्टी पर जितना भी दबाब और जांच तेज किया जाएगा वह बीजेपी विरोधी इस गठबंधन का साथ नहीं छोड़ेंगी. ममता बनर्जी ने तेजस्वी यादव को भी बधाई देते हुए कहा कि वह राजनीति के भविष्य हैं.