Breaking News

एनडीए में शामिल हुआ जेडीयू, सीएम हाउस के बाहर भिड़े नीतीश-शरद समर्थक


जदयू एनडीए में शामिल हो गया है. पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी मिली. नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हो रही इस बैठक में पार्टी के एनडीए में शामिल होने को लेकर सहमति बनी. हालांकि पार्टी की तरफ से इसकी औपचाकिर घोषणा किया जाना बाकी है.
LIVE: एनडीए में शामिल हुआ जेडीयू, सीएम हाउस के बाहर भिड़े नीतीश-शरद समर्थक
इससे पहले पार्टी में जारी आंतरिक कलह अब हिंसक रूप लेने लगा है. शनिवार को इसकी बानगी पटना की सड़कों पर देखने को मिली जब सीएम हाउस के ठीक बाहर शरद और नीतीश गुट के लोग आपस में भिड़ गये. शनिवार को जेडीयू में बैठकों का दौर है. इसके लिये दोनों खेमों ने तैयारियां भी कर रखी थीं.
पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार की अध्यक्षता में शुरू हुई इसी दौरान शरद यादव के समर्थन में नारे लगाते बाइक सवार सीएम हाउस के बाहर आ चुके और नीतीश कुमार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे. इस दौरान नीतीश के समर्थकों और उनके बीच जम कर मारपीट हुई.
पुलिस के हस्तक्षेप के बाद दोनों गुट के समर्थकों को अलग किया जा सका. सीएम हाउस में हो रही इस बैठक के बाद ही पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक आज पटना में होने वाली है. इसके अलावा पार्टी का खुला अधिवेशन भी आज ही होने वाला है.


शनिवार को हो रही इन बैठकों के बाद जेडीयू का राष्ट्रीय स्तर पर एनडीए में शामिल होने का औपचारिक एलान किया जायेगा. सीएम नीतीश कुमार के आवास और उनकी ही अध्यक्षता में होने वाली राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में पार्टी के राजनीतिक व सांगठनिक प्रस्तावों को भी मंजूरी दी जायेगी.
अब तक जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक राष्ट्रीय कार्यकारिणी व राष्ट्रीय परिषद की बैठक 1, अणे मार्ग स्थित मुख्यमंत्री आवास में होगी, वहीं दोपहर बाद पार्टी का खुला अधिवेशन रवींद्र भवन में होगा.
जदयू की इन बैठकों के बाद पार्टी की तरफ से एक प्रेस कांफ्रेंस का भी आयोजन किया जायेगा. राष्ट्रीय प्रवक्ता सह प्रधान महासचिव केसी त्यागी ने बताया कि जदयू के राष्ट्रीय कार्यकारिणी, राष्ट्रीय परिषद् की बैठक और खुला अधिवेशन की तैयारी पूरी कर ली गयी है.
पार्टी की बैठकों में एनडीए की सरकार बनाने, महागठबंधन से अलग होने के कारणों और बिहार में बाढ़ आपदा को लेकर प्रस्ताव भी पेश किया जायेगा. इस हाईलेवल मीटिंग में  हरियाणा, गुजरात, राजस्थान और मध्यप्रदेश को छोड़ शेष 23 राज्यों के प्रदेश अध्यक्ष शामिल होंगे, जिनमें 20 पटना पहुंच चुके हैं.